रथ यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का जन सैलाब,चप्पे-चप्पे तैनात थी पुलिस

रथ यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का जन सैलाब,चप्पे-चप्पे तैनात थी पुलिस

08 Jul 2024 |  77

 

पूर्वांचल सूर्य प्रतिनिधि,पाकुड़।ऐतिहासिक रथ यात्रा रविवार को निकाली गई।वहीं भगवान मदन मोहन की रथ यात्रा पाकुड़ के अलावा जिले के महेशपुर और हिरणपुर में भी निकाली गई।रथ को सजाधजा तैयार कर लिया गया था।पाकुड़ के राजबाड़ी में स्थित रथ में सुबह से ही पूजा अर्चना शुरू हो चुकी थी।

 

पाकुड़ जिले में अति प्राचीन काल राजा पृथ्वी चंद्र शाही के समय से ही रथ यात्रा निकाली जाती है।यह परंपरा वर्षों से चली आ रही है। राधा रानी और भगवान मदन मोहन की रथ यात्रा राजापाड़ा से निकलकर राजापाड़ा,हाट पाड़ा,मुख्य सड़क होते हुए भगतपाड़ा तक गई और फिर उसी मार्ग से वापस होते हुए कालीबाड़ी पहुंची।इसके बाद राधा रानी और भगवान मदनमोहन कालीबाड़ी स्थित रंग महल में विराजमान हो गए।अगले आठ दिनों तक रंग महल में ही वे विश्राम करेंगे। 

 

इस रथ यात्रा में शामिल होने के लिए भक्तों का जनसैलाब उमड़ पड़ा था।भक्त रथ पर सवार मदन मोहन की फूल, बेलपत्र,पान,बताशा आदि से पूजन करते आ रहे थे।भक्तों की टोली जयकारा लगाते हुए रथ को रस्सी के सहारे खींचने का सौभाग्य प्राप्त कर पुण्य का भागी बनते जा रहे थे। 

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सन 1697 में राजा पृथ्वी चंद्र शाही के समय प्रारंभ हुई रथ यात्रा आज भी पूरे रीति रिवाज के साथ जारी है।राजपाट के स्थान बदले,कई पीढ़ियां गुजर गईं,समाज में बदलाव आए,लेकिन रथ यात्रा पिछले लगभग 325 वर्षों से ईश्वर की असीम अनुकंपा और समाज के सक्रिय सहयोग से बदस्तूर चलती आ रही है।पहले यह रथ नीम की लकड़ी का हुआ करता था।स्वर्गीय रानी ज्योतिर्मयी देवी ने वर्तमान के पीतल के रथ पर पहली बार राधा रानी और भगवान मदन मोहन को विराजमान किया था। वर्तमान में रानी ज्योतिर्मयी देवी देवोत्तर एस्टेट के सेवायत गण मीरा प्रवीण सिंह,देब मोहन,अमित पांडेय,अभिजीत पांडे और पांडेय के द्वारा पूजा अर्चना की सारी व्यवस्था की जाती है।पूजा अर्चना का कार्य पंडित भरत भूषण मिश्र संपन्न कराते हैं। रथ यात्रा के अवसर पर नगर थाना के सामने स्थित मैदान में एक माह तक मेला लगता है।मेले में झारखंड के अलावा बंगाल,बिहार आदि से लोग यहां दुकान लगाते हैं। वहीं नगर थाना की पुलिस के द्वारा जगह-जगह पर पुलिस की तैनाती की गई थी,महिला पुलिस भी सादे लिबास में जगह-जगह मौजूद थी। खुद अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी दयानंद आजाद,प्रशिक्षु डीएसपी अजय आर्यन,एसआई विक्रम कुमार सहित दर्जनों पुलिस कर्मी सड़कों पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर तैनात थे।लाखो की संख्या में भक्त सड़कों पर मौजूद थे।

ट्रेंडिंग